बुधवार, जून 01, 2016
अतीत के वो दिन

जून का तपता रेगिस्तान आज जून के महीने की पहली तारीख है। यह महीना किसी रूठे हुए सनम की तरह मेरे लिए हमेशा ही बेदर्द रहा है। जून के ...

मंगलवार, जून 19, 2012

                                 एक पंक्षी रति पीड़ा में ..... ...और प्याला छलक उठा...एक मरघट सी शांति...उदासी...पीड़ा...रति क्रीड़ा.....

मंगलवार, मार्च 13, 2012
मेरी यादों में नेपाल....

यह मार्च का महीना है...मेरे ‘ बसंत ’ का मौसम..आज से एक साल पहले उनसे मुलाकात हुई थी...                                                   ...

मंगलवार, अगस्त 02, 2011
no image

                                                                            नेपाल के तराई में रहने वाली यह लड़की मनीषा बेहद खूबसूरत और अल्...

सोमवार, जून 20, 2011
नमन उनको

  नमन उनको ! मिथिला के  बिहार प्रान्त दरभंगा में लदारी गाम  के स्वरुपम कुमार झा  1995 में दीक्षा प्राप्त कर  बन गए  स्वामी निग्मानंद....

रविवार, सितंबर 05, 2010
एक अंतहीन यात्रा.....

बहुत पुरानी चीनी कहावत है, "दस हज़ार किताबों को पढने से बेहतर , दस हज़ार मील की यात्रा करना है "I                                 ...

शनिवार, अगस्त 28, 2010
no image

.......... क्यूँ यह इक्षा होती है बार- बार विभक्त हो जाऊ सैकड़ों टुकड़ों में और एक ही समय , एक ही संग मौजूद रहूँ सैकड़ों देह के साथ ---जैस...

शुक्रवार, जुलाई 23, 2010
गर्दिश के दिन

यादों के जंगल में अब जुगनुओं ने भी आना छोड़ दिया है .... .....काफी दिनों बाद , कल की शाम एक बार फिर                                      ...